Wednesday, 5 October 2016

वक़्त रूक जाना.............



वक़्त रूक जाना यही
थम जाना उस पल
जब अपने करीब हो
इन नजरो के नजदीक हो
बस उस पल वही रुक जाना
ऐ वक़्त जरा थम जाना

जीने देना उन लम्हों को
जीभर के
करने देना उन पलो को
उन यादों को कैद इन नजरो में
उड़ने देना ख्वाबो के पर लिये
बस युही संग अपनो के
वक्त तू रूक जाना
बस यही थम जाना

जाने कब ये पल आये फिर ऐसे
ऐ वक्त थोडा वक्त देना
इन पलों को समेटने के लिये
यादों में अपने
ऐ वक्त थोडा तो ठहर जाना
बस कुछ वक्त के लिए रूक जाना

तन्हाइयो में अपने फिर
उन पलो के सहारे ही जी लेंगे
याद करके उन लमहो को
तन्हाइयो का सफ़र काट लेंगे

बस एक ही अहसान ऐ वक़्त तू करना

कुछ वक्त के लिए बस यही रुक जाना।।।।।।